ट्रेन की जनरल बोगी भी होगी शताब्दी की तरह, ये मिलेंगी सुविधाएं

साधारण श्रेणी के यात्रियों को भी अब शताब्दी ट्रेन की तरह चेयरकार कोच की सुविधा मिलेगी। इसमें बेशक एसी का मजा तो नहीं होगा, लेकिन जरूरत के हिसाब से मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट, वाटर बॉटल होल्डर व बैठने के लिए गद्देदार सीटें उपलब्ध रहेंगी। इन सुविधाओं से लैस कोच का ट्रायल भोपाल में हो गया है। जिस प्रकार पूरे देश में लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेनों में दीन दयालु कोच लगाए गए हैं, उसी आधार पर अब यह चेयरकार कोच भी लगाए जाएंगे।

भारतीय रेलवे के इतिहास में पहली बार ट्रेन के जनरल डिब्बों की सूरत बदलने जा रही है। इन डिब्बों में अब तक पटियों वाली सीटें होती थीं, पर आने वाले दिनों में यह सीटें इतिहास बन जाएंगी। भोपाल स्थित निशातपुरा कोच फैक्ट्री में सुविधाओं से लैस पहली आधुनिक जनरल बोगी का निर्माण हो चुका है। इस बोगी का पहला ट्रायल भी हो गया है जा सफल रहा। रेलवे ने अब इन डिब्बों को लंबी दूरी की ट्रेनों में जोड़ने की तैयारी कर ली है। इससे पहले जनरल क्लास यात्रियों के लिए वाटर फिल्टर व बायो टॉयलेट से लैस दीन दयालु कोच लगाए गए थे जाेकि काफी हद तक जनरल क्लास यात्रियों के लिए सौगात से कम नहीं हैं।
स्नैक्स ट्रे, मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट्स होंगे...

यह जनरल रैक सामान्य श्रेणी के यात्रियों के लिए डिजाइन किया गया है। रैक में 108 यात्रियों के बैठने की क्षमता, प्रत्येक सीट में कुशन युक्त बर्थ, प्रत्येक कोच में पैसेंजर इंफार्मेशन सिस्टम होगा जो आने वाले स्टेशन सहित अन्य अहम जानकारी देगा, यात्रियों के लिए एलईडी लाइट्स, कोच में मॉड्यूलर टायलेट्स , हाई ग्लास एक्सटीरियर पेंट्स, प्रत्येक यात्री के लिए अलग स्नैक्स ट्रे, प्रत्येक यात्री के लिए मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट व प्रत्येक यात्री के लिए बॉटल होल्डर लगा है। 
सफल ट्रायल हो गया हैअनिल सक्सेना, प्रवक्ता रेलवे बोर्ड ने कहा कि भोपाल स्थित फैक्ट्री में जनरल क्लास यात्रियों के लिए चेयरकार कोच तैयार किया गया है। इसका सफल ट्रायल हो गया है। जल्द ही साधारण कोच में सफर करने वाले यात्रियों को इसकी सुविधा मिलने लगेगी।

Courtsey: Bhaskar

ALSO READ :-

No comments:

People

Powered by Blogger.