1 जुलाई से तत्काल सुविधा एक्सप्रेस के टिकट रिफंड पर भी लौट सकता है


अबतत्काल टिकट और सुविधा एक्सप्रेस का टिकट रिफंड करने पर यात्रियों को आधा पैसा यानी 50% राशि वापस मिलेगी। 1 जुलाई से रेलवे यात्री आरक्षण प्रणाली में कई बदलाव की तैयारी में है। रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी के अनुसार 1 जुलाई से तत्काल टिकट रद्द करने के प्रस्तावों में 50 फीसदी रिफंड शामिल है। अबतक तत्काल टिकट रद्द कराने पर पैसे नहीं मिलते थे। रेलवे प्रतीक्षा सूची टिकट बुकिंग प्रणाली को 1 जुलाई से दूर करने पर विचार कर रहा है। आरएसी बर्थ यात्रियों को जारी किए जाने का प्रस्ताव है। यानी आरएसी होने पर सीट कन्फर्म माना जाएगा। चार्ट बन जाने के बाद आरएसी की लंबी वेटिंग नहीं होगी। 

रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि इसका उद्देश्य आरक्षित कोचों में यात्रियों के बीच आपसी विवाद रोकना है। ज्यादा से ज्यादा यात्री ट्रेनों में सफर कर सकें, इसके लिए अगले महीने से राजधानी एक्सप्रेस और शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन में जेनरेटर कार हटा दिया जाएगा। उसकी जगह एक यात्री कोच जोड़ा जाएगा। ट्रेनों में बिजली की आपूर्ति अब ओएफसी केबल के जरिए इंजन से होगी। अभी पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इस योजना का ट्रायल राजधानी एक्सप्रेस में चल रहा है।

नहीं चलेगी प्रीमियम ट्रेन


1जुलाई से रेलवे की कई सुविधाओं में बदलाव की तैयारी है। घाटे में चलने के कारण प्रीमियम ट्रेनों को जल्द ही वापस लिया जाएगा। रेलवे ने पटना जंक्शन, राजेंद्रनगर टर्मिनल, पाटलिपुत्र जंक्शन और दानापुर स्टेशन सहित पूर्व मध्य रेलवे के तहत सभी प्रमुख स्टेशनों पर एक भीड़ प्रबंधन प्रणाली (सीएमएस) शुरू की है। 

टिकट पर अब अलग-अलग भाषा में लिखावट


आईआरसीटीसी अभी केवल अंग्रेजी में यात्रा टिकट जारी करता है। 1 जुलाई से विभिन्न भाषाओं में टिकट जारी होंगे। यानी बिहार में हिंदी और अंग्रेजी, ओडिशा में उड़िया और इसी तरह अन्य राज्यों में वहां की भाषा टिकट पर प्रिंट होगी। सुविधा ट्रेन का टिकट रद्द करने पर यात्रियों को 50 फीसदी राशि वापस दी जा सकती है। 

Courtesy: DainikBhaskar

ALSO READ :-

No comments:

People

Powered by Blogger.